Types of charts in technical analysis

Types of charts in technical analysis । टेक्निकल एनालिसिस चार्ट्स के प्रकार

Please Share :
0
(0)

Last Updated: November 16, 2021

Types of charts in technical analysis । टेक्निकल एनालिसिस चार्ट्स के प्रकार

Hi मित्रों, हमारे Technical Analysis के topics में आगे बढ़ते है, और Types of charts in technical analysis । टेक्निकल एनालिसिस चार्ट्स के प्रकार कितने और कोन कोन से है उसे थोडा विस्तार से जानते है।

आम तोर पर काफी तरीखे के चार्ट का इस्तेमाल होता है , जैसे की  पाई चार्ट, मेप्स, डेंसिटी मेप्स , स्कैटर प्लॉट, गैंट चार्ट, बबल चार्ट आदि उपयोग होते है। पर यह सब टैक्निकल एनालिसिस में बिलकुल काम नहीं आते हैं ।

टेक्निकल एनालिसिस में काम आता वह है – लाइन चार्ट, बार चार्ट, कैंडलस्टिक चार्ट, हेईकिन अशी चार्ट, रेन्को चार्ट, पॉइंट-एंड-फिगर चार्ट। पर आज के इस पोस्ट में हम 3 basics चार्ट के बारेमे जानकारी देंगे।

आम चार्ट और टेक्निकल एनालिसिस चार्ट में फर्क यह है की, ज्यादातर इस्तेमाल होने वाले चार्ट में सिर्फ एक ही data points होता हैं, जबकि टेक्निकल एनालिसिस के चार्ट में …एक से लेके चार तक का data points होता है। और वह है, Open, High, Low और Close ।

Technical Analysis चार्ट , एक ऐसे ग्राफ पर तैयार किए जाता हैं, जो X Axis पर Time को और Y Axis पर Price Value को Plot किया जाता है।

यह भी पढ़े > Technical Analysis Assumptions । तकनीकी विश्लेषण की धारणाएं

अब हम सभी प्रकार के चार्ट को विस्तार से जानेंगे ….

> 1) Line Chart लाइन चार्ट

यह एक simple सा और आसान चार्ट है। इसका उपयोग एक सामान्य view देने के लिए होता है।

इसमें केवल एक ही data points का उपयोग होता है। और उसीको जोड़कर एक चार्ट तैयार किया जाता है। बाएं से लेके दाएं तक एक ही लाइन से जुड़े होते हैं और हर दिन के सारे Closing Prices को जोड़ कर चार्ट बनाया जाता है।

line chart
लाइन चार्ट

चार्ट में प्रत्येक Closing Prices को एक बिंदु द्वारा दर्शाया जाता है। और सभी बिंदुओं को जोड़ा जाता है, एक ग्राफ को दर्शाने के लिए ।

लाइन चार्ट सरल होता है, वह उसकी बड़ी खासियत है। लेकिन यह कैंडलस्टिक चार्ट  अथवा  बार चार्ट की तुलना में कम जानकारी प्रदान करता है, वह उसकी कमजोरी भी है । कोई भी ट्रेडर इसको देख कर एक ट्रेंड का और बाजार को एक नजर में देखकर उसका अनुमान लगाने के लिए बेहतर है।

लाइन चार्ट की कमजोरी यह है कि, यह Closing कीमत पर आधारित होने के कारण , दूसरे data points जैसे Open, High, Low का उपयोग ही नहीं होता है। जो मार्केट के बारे में काफी information देता है ।

इसलिए Traders लाइन चार्ट का इस्तेमाल बहुत ही कम ही करते है । सिर्फ Dow theory में use होता है, जहा सिर्फ closing price की जरुरत होती है ।

> 2) Bar Chart बार चार्ट 

Stock chart में सबसे लोकप्रिय में से एक है और candlestick के आने से पहले यह सबसे ज्यादा use होती थी।

लाइन चार्ट के मुकाबले में Bar Chart बार चार्ट, कुछ ज्यादा डाटा और अधिक जानकारी प्रदान करते है। जैसे की Open, High, Low और Close चारों को इसमें दिखाये जाते है ।

bar chart
बार चार्ट

Bar Chart बार चार्ट में मुख्य तिन अंग होते है …

1. केंद्रीय रेखा – रेखा के सबसे ऊपर वाला का हिस्सा, High price को दर्शाता है जबकि रेखा के नीचे वाला हिस्सा, Low price को दर्शाता है।

2. बाँया tick मार्क – बाईं ओर एक छोटा सा टिक मार्क, उस अवधि में, यह एक खुलने यानि Open price को दिखता है।

3. दाहिना tick मार्क – दाहिने ओर एक छोटा सा टिक मार्क, उस अवधि में, यह एक बंध यानि Close price को दिखता है।

बार चार्ट में यदि Closing price, अगर  opening price से ऊपर है, तो वह rising bar कहेलाता है और उसका कलर चार्ट में काले (या हरे) रंग का दर्शाया जाता है।

और यदि Closing price, अगर  opening price से निचे है, तो वह falling bar कहेलाता है और उसका कलर चार्ट में लाल रंग द्वारा दर्शाया जाता है।

बार चार्ट से वजे से  traders को पैटर्न खोजने में काफी आसानी होती है क्योकि इनमे Open, High, Low और Close सब आसानी से दर्शाये होते है।

> 3) Candlestick कैंडलस्टिक चार्ट

सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला और लोकप्रिय चार्ट हैइसे Japanese Candlestick भी कहते है और इसकी उत्पत्ति जापान में हुई थी। और इसका इस्तेमाल 17वीं सदी में जापान में हुआ करता था।

होम्मा Homma नाम के एक चावल के trader ने , चावल के कीमतों की एनालिसिस करने के लिए इसका इस्तेमाल किया था ।

बाद में , स्टीव निशन Steve Nison नाम के व्यक्ति ने पुरी दुनिया को इसका उपयोग और तरीका बताया, उनकी book  “Japanese Candlestick Charting Techniques” के जरिये।

कैंडलस्टिक चार्ट, OHLC बार चार्ट की तरह  same जानकारी देते है, जैसे  Open, High, Low और Close. और कैंडलस्टिक चार्टिंग एक ऐसा tools है जो मार्केट की sentiments और मार्केट की weakness को आसानी से दिखाती है। यह एक मूल्यवान Trading टूल्स है ।

कैंडलस्टिक चार्ट को  , दर्शाने के लिए , price  के Open और Close कीमतों को  एक Rectangle की तहर दिखाई जाती हैं।

चार्ट में यदि Closing price, अगर  opening price से ऊपर है, तो वह bullish candle कहेलाता है और उसका कलर चार्ट में हरे रंग या सफ़ेद से दर्शाया जाता है।

और यदि Closing price, अगर  Opening price से निचे है, तो वह bearish Candle कहेलाता है और उसका कलर चार्ट में लाल या काला रंग से दर्शाया जाता है।

candlestick chart
कैंडलस्टिक चार्ट

Bar Chart  की ही तरह Candlestick  Chart-कैंडलस्टिक चार्ट में भी मुख्य तिन अंग होते है….

1. केन्द्रीय बॉडी या real body – यह एक महत्वपूर्ण  हिस्सा है ,जो कि Rectangle की तहर दीखता है और Opening price और Closing price को जोड़ता है और इनके बिच का अंतर को दर्शाता है ।

2. Upper shadow या Wick – यह पतली रेखा जो High Price को Close Price से जोडती है।

3. Lower shadow या Wick – यह पतली रेखा जो Low Price को Close Price से जोडती है।

Shadow या Wick – यह एक पतली रेखाएं होती है जो real body के ऊपर और निचे दिखाई देती है।

यह है कैंडलस्टिक चार्ट की बेसिक्स जानकारी।

कैंडलस्टिक चार्ट में काफी patterns प्रचलित है, जो single , double  या  triple candle से बनती है, जिससे आप यह पता कर सकते है की trend reversal कब हो सकता है?।

मारुबोजु , हैमर , डोजी , मोर्निंग स्टार , एन्गुल्फ़  ….. पैटर्न्स आदि।

इसके बारे में हम विस्तार से एक नए पोस्ट में बतायेंगे।  

हेईकिन अशी चार्ट, रेन्को चार्ट, पॉइंट-एंड-फिगर चार्ट .. यह एक एडवांस्ड चार्ट का स्वरुप है … जिसके बारे में हम विस्तार से एक नए पोस्ट में बतायेंगे

मित्रों , यह था आज का हमारा आर्टिकल।

आपने आज यहाँ क्या सिखा?

उम्मीद है की आपको मेरा यह आर्टिकल, Types of charts in technical analysis टेक्निकल एनालिसिस चार्ट्स के प्रकार  पसंद आई होगी. इसे पढ़ने के बाद, आप आसानी से आपका अलग अलग चार्ट यानि के, लाइन चार्ट, बार चार्ट, कैंडलस्टिक चार्ट के बारे में जानकारी प्राप्त हुई होगी।

यदि आपको इस article को लेकर कोई भी और जानकारी चाहिए हैं, या कोई तरह का doubt हो तो, आप नीचे हमे comments लिख सकते हैं ।

यदि आपको यह post, पसंद आया , या कुछ नया सीखने को मिला तो Please इस post  को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites पर share करना न भूलिए ।

धन्यवाद

जय हिन्द

> 10-Top Trading rules in stock market – १० शेयर बाजार में शीर्ष ट्रेडिंग के नियम

> 90% लोग share market में क्यों fail हो जाते हैं?

> What is a share market in Hindi – शेयर मार्केट क्या है?

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *